(Maa ke balo ne sikhayi Kaamwasna)

माँ के बालो ने सिखाई कामवासना

हाय दोस्तो, मेरा नाम राहुल हैं, एज 18 हाइट 5” 11 शरीर आवरेज, मा का नाम ऋतुजा एज 45, रेशमी लंबे काले घने बाल, गुलाभी बड़े लिप्स गोरा रंग बड़े बूब्स और गॅंड. ये मेरे मा का लॅंड खड़ा करने वाली ख़ासियत हैं. मेरी 2 बहने भी हैं, उनकी स्टोरी आगे बतौँगा.

पापा का दूसरे सिटी मे बिज़्नेस हैं. तो पापा वीकेंड्स पे ही घर आते हैं. मेरी मा इतनी सेक्सी दिखती हैं, तो पापा मा को खूप चोदते थे. जवानी मे अभी एज के साथ और उन के पीठ मे प्रॉबले के बाद वो मा को कम चोदते हैं. ये सब मुझे बाद मे पता चला, मा चुदक्कड हो गयी थी पापा के चुदाई से. 12थ की एग्ज़ॅम के बाद मैने पॉर्न फिल्म बोहोत देखी, जिस की वजह से मुझे सेक्स करने का मन होने लगा.

मैं बचपन से ही औरत के रेशमी बालो का दीवाना हूँ. मैं बचपन से मा के बालो से खेलता था. उसे अपने फेस पे घुमाता था और खेलता भी था मा के बाल बोहोत मुलायम और रेशमी हैं. मैं अभी भी मा के बालो से खेलता हूँ.

अपनी सेक्स लाइफ को बनाये सुरक्षित, रखे अपने लंड और चुत की सफाई इनसे!

मैं मा के साथ सोता था और दोनो दीदी साथ मे दूसरे रूम मे सोती थी. तो मैने रात मे पॉर्न देखी और मैं सो रहा था बट नींद नही आई. बाजू मे मा थी वो दूसरी तरफ मूह कर के सोई थी. इस लिए उनके बाल मेरी तरफ़ थे. मैने उन्हे सुंगना शुरू किया. उस की मादक खुश्बू से मैं और मदहोश होता गया, मुझे सेक्स का बुखार और चड़ता गया.

मैं मा के रेशमी मुलायम बोलो को चूमता गया. अब मुझसे रहा नही जा रहा था, इस लिए अपना लंड बाहर निकाला और मा के बाल 1 हात से पकड़ कर उस मे लॅंड पेलने लगा. लंड को मा के मुलायम बालो का स्पर्श होते ही मैं सातवे आसमान पे चला गया और अह्ह्ह उम्म्म्म अह्ह्ह आ ऐसे मोन करने लगा. मैने अपना सारा वीर्या मा के बालो मे निकाल दिया. आप यह माँ बेटा चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हे. जिस से मा के नीचे के बाल पूरे गीले और चिपचिपे हो गये, मा पहले ही उठ चुकी थी.

बट मा ने मुझे रोखा नही और मा को समझ भी नही आया की मैं उन के बालो मे मूठ मारी हैं. मुझे चुदाई का अनुभव मिल चुका था, मैं सो गया. जब सुबह उठा तो मा नहा चुकी थी.

मा ने बाल धोए थे. मा को गीले बालो मे देख कर मेरा लंड फिर खड़ा हुआ. मा ने मेरी तरफ मुस्कुराते हुए बोला, मेरा बच्चा अब बड़ा हो गया हैं. मैं थोड़ा डर गया था बट मा ने आगे कुछ बोला नही.

उस दिन रात को फिरसे मैने मा के बाल सुंगे चूमे और उन मे मूठ मार दी और सो गया. मा दूसरे दिन बाल धोके थी पर मा ने मेरी तरफ गुस्से मे देखी, पर खुच बोला नही. जब मेरी दोनो दीदी बाहर गयी, तब मा मेरे पास आ के बोली, तुम दो दिन से मेरे साथ क्या कर रहे हो?

ये सुन के मेरे तो होश उड़ गये. मैं मा से रोते हुए माफी माँगने लगा. मैं फिर ऐसा नही करूँगा, वो मैं पॉर्न मूवी देखा और मैं जोश मे आ गया और फिर मैने तुम्हारे बालो पे मूठ मार दी. मुझे माफ़ कर दो प्लीज़ पापा को मत बताना.

मा ने थोड़े गुस्से मे देखा और हसने लगी. मैं हैरान था, मा के इस बर्ताव को देख के. फिर मा ने मुझसे बोला की, आज के बाद मेरी सारी बात मनोगे… तो मैं तुम्हारे पापा को तुम्हारे इस हरकत के बारे मैं नही बतौँगी.

मैने तुरंत हामी भर दी. मा ने बोला, आज के बाद तुम पॉर्न नही देखोंगे. इससे हम मे कांवासना भागेंगी. किसी भी रंडी के पास कांवासना मिटाने नही जाओगे और मेरे बालो मे रोज मूठ नही मारोंगे.

मैने हा बोल दिया. बट मुझे मा की चाल नही समझ आई. आगे मा बोली, मैं संडे को बाल धोती हूँ. तो तुम सॅटर्डे को बालो मे मूठ मार सक़ते हो. ये सुन के मैं खुश हो गया और मा के गले लग गया. फिर मा बोली, इस के बदले मे मैं तुम्हे सब सीखौँगी. फिर मा ने पापा वाली बात बता दी की पापा अब उन्हे नही करते और वो प्यासी हैं.

ये सुनते ही मैने मा को किस किया. मा ने मेरा खूब साथ दिया. पर जब मैने उनके कपड़े उतारने चाहे, तो उन्होने मना कर दिया और बोला तुम अनाड़ी हो. तुम्हे सीखाने के लिए समय चाहिए. अभी कोई भी आ सक़ता हैं. रात मे करेंगे. रात मे मा कमरे मे आ के दरवाजा अंदर से बंद किया, मा दूध ले के आई थी.

मा ने दूध रखा और बोला धीरे आवाज़, मे बात करना और ज़्यादा शोर मत करना और मुझे फॉलो करना. फिर मा ने मुझे किस किया मेरे बालो मे हात डालकर उन्होने मेरा 1 हात कमर पे रखा दूसरा उनके बालो मे फिर वो मेरे लिप्स चूस्ते गयी. मेरे 2 नो लिप्स उन्होने बारी बारी से चूसे. मैने भी उनके चूसे फिर उन्होने अपनी जिब मेरे मूह मे डाली. मैने वो चुसि फिर मैने डाली उन्होने चुसि फिर हम पूरे नंगे हुए. वो मुझे बाथरूण मे ले गयी. मेरा खड़ा हो चुका था, उन्होने मेरे लंड को पानी से आछे से धोया.

अधिक कहानियाँ : बीवी को चार अजनबी लड़को से चुदवाया

फिर धीरे धीरे चूसा पहले लंड का टोपा चूसा फिर टोपे पर अपनी जिब से खेला. मैं आह आह उम्म्म आह ऑश कर के मोन कर रहा था धीमे आवाज़ मे. मेरे हात उनके बालो मे थे, फिर वो मुझे बेड पे ले गयी अपने टाँगे फैला के लेट गयी..

फिर कहा पहले मेरी चुत चाटो उपर से, फिर हात से उसे खोलो और नीचे मे उंगली डाल के चोदो मेरे चुत को. मैने ऐसा ही किया. मा भी धीमे आवाज़ मे अहह उम्म्म ऑश आ कर रही थी. फिर उनके चुत से पानी निकलने लगा. फिर मा ने कहा की जल्दी से अब उन की चुत को चूसना चालू करो. उन के चुत का पानी नमकीन था पर मैं मदहोश हो चला था, फिर 69 मे हमने एक दूसरे की चूस के.

मा टाँगे खोल के लेटी थी. मा ने चुत मे लॅंड पेलने को कहा, मैं जब डालने की कोशिश की तो मेरा लंड चुत मे जा ही नही रहा था. बार बार फिसल जात था. फिर मा ने लंड अपने हात से पकड़ के रखा चुत पे और फिर लॅंड पेलने कहा. चुत को फाड़ता हुआ मेरा लॅंड पूरा अंदर घुस गया. आप यह माँ बेटा चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हे.  मुझे और मा दोनो को थोड़ा दर्द हुआ दोनो की चीख निकल गयी.

पर धीरे से फिर मा ने धक्के देने कहा. 2 ही धक्को मे मेरा वीर्या मा की चुत मे निकल गया और मैं निढाल हो गया. मा हस पड़ी और मैं गुस्सा था. मैं मा को चोद भी नही पाया था ठीक से, मा ने मुझे अपने पास लिया किस किया और बोला, बेटा ऐसा होता हैं 1ली बार जल्दी गिर जाता हैं.

फिर मा ने मुझे दूध पिलाया और मेरा लंड चूसके खड़ा किया और फिर ले पेलने कहा. मेरा इस बार 1 ही बार मे अंदर गया और इस बार मैने आसानी से धक्के दे रहा था. मा अह्ह अह्ह ओह्ह उम्म कर रही थी फिर थोड़ी देर बाद मा 1 बार झड़ गयी.

मेरा वीर्या निकलने का था, मा ने फिर डोगी पोज़ मे चोदने को कहा. मैने लंड पेला मा की चुत मे और धक्के देने लगा. इस बार सारा रूम पूछ पूछ की आवाज़ से गूँज उठा. मैने कुलो पर जमके थप्पड़ भी बरसाए. मा और 1 बार झड़ गई. फिर मा ने मुझे लेटा के मेरे लॅंड पे बैठ कर खुद सवारी करने लगी.

मैं आह आ कर रहा था. मैने मा को देखा, उस के रेशी मुलायम बाल हिल रहे थे, बूब्स उछाल रहे थे, मा बार बार अपने होटो से उस के बाल उठाके नीच झटक देती. ये देख के मेरा मूड और बना और मैं झड़ गया और मा को अपनी और खिच के चूमने लगा. मा गुस्सा हो गयी और बोली, मुझे तुम्हारा वीर्या पीना था. मैं बोला मा को लंड चूस के निकालो. तो मा मेरे सोए हुए लंड को देख के बोली टुमारा 3री बार निकलना मुश्किल हैं.

बठाये अपने लंड की ताकत! मालिस और शक्ति वर्धक गोलियों करे चुदाई का मज़ा दुगुना!

मैने मा को बोला तुम अपने बालो से मूठ मारो मेरा वीर्या निकल आएँगा. मा ने अपने बाल मेरे लंड मे घुमाने लगी और मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर मा ने चूसना शुरू किया पर वीर्या निकल नही रहा था.

फिर मा ने उन के बाल मेरे लंड पे लपेटे और मेरे लंड का सूपड़ा चूसने लगी और फिर जल्दी ही, मेरा वीर्या निकल आया. मा ने सारा पी लिया फिर हम कपड़े पहनकर किस करते हुए सो गये.

दोस्तो आपको मेरी ये सेक्स स्टोरीस इन हिन्दी कैसी लगी मुझे ज़रूर बताना.

Popular Stories / लोकप्रिय कहानियां

  • Baap beta dono meri chut ke gulam

    Hi dosto, main Reshma hun meri umar 38 saal hai. Mera gora rang kali julfen badi badi meri ankhen aur mera gadraya jism ek dam mast hai. Uper se mere bade bade boobs aur meri bahar nikali hui gand, kisi bhi jawan aur budho ko apne roop jaal me bandhne ke liye kafi hai.

  • Maa ki chudai

    Mummy ko aunty ne chudwaya – Part 2

    Uncle ji ke gift dekhke Mummy bahut khush thi aur badle me unhone Uncle ji ko apne garam jism ka har ek maza diya.

  • मेरे सर ने मेरी सेक्सी माँ को चोदा

    माँ बुरी तरह तड़फ उठी थीं, क्योंकि सर का लंड बहुत बड़ा था और मेरी माँ की चुत छोटी सी थी. इस हिंदी चुदाई कहानी में पढ़िए, किस तरह मेरी माँ की चुदाई हुए.

  • Meri Sexy Maa ki Red Nighty – Part 2

    Maa ka sexy jism ek hot nighty me dekh kar beta uska deewana ho gya. Aage kya hua sab is Indian Adut Story ki maa beta chudai kahani me padhiye.

  • Maa ki Maalish aur Mere Lund ka Khel

    Vidhwa Maa ko Chodne ki lalsa – Part 2

    Maa ko chodne ki planing me mene uski maalish karen ka bola aur maa mere godi me sar rakh ke let gayi. Padhiye is maa ki chudai kahani me kya me Maa chod paya?

आपकी सुरक्षा के लिए, कृपया कमेंट सेक्शन में अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी ना डाले।

Leave a Reply