(Meri pehli Group Chudai, Boyfriend ke Dosto ke Sath)

मेरी पहली ग्रुप चुदाई, बॉयफ्रेंड के दोस्तों के साथ

मेरे प्यारे दोस्तों को मेरी रसीली चूत के पानी से नमस्कार. मेरा नाम प्रिय हे और में जबलपुर की रहनेवाली हु. 34-28-34 का कमाल का फिगर है मेरा. बूब्स और गॅंड दोनो ही बहुत बड़े है मेरे पास. अब मैं सीधा कहानी पर आती हू. ग्रुप सेक्स  की इंडियन एडल्ट स्टोरी पर.

मैने बहुतसे लोगो के साथ मज़े किए है. भाई के दोस्त के साथ, पापा के दोस्तो के साथ और क्लास के लड़को के साथ भी.

एक बार की बात है की मैं अपने क्लास के एक लड़के शुभम को डेट करने लेगई. अब हमारी सेक्स लाइफ शुरू हुई. मुझे आउटडोर सेक्स बहुत पसंद है. हम मूवी जाया करते थे. जाने से पहले मैं ब्रा पैंटी उतार लेती थी. वाहा जा के वो मेरे दूध (बूब्स) को चूस्ता. चुत मे उंगली डालता और कभी कभी, तो मैं बगल मे बैठे अंकल से भी अपने निप्पल्स चुस्वा लेती. हमारी सेक्स लाइफ बहुत अछी चल रही थी.

अपनी सेक्स लाइफ को बनाये सुरक्षित, रखे अपने लंड और चुत की सफाई इनसे!

एक दिन मेरे बीएफ ने बोला की चलो प्रिया हम मेरे फार्म हाउस मे पार्टी करते है. वाहा उसके 3 फ्रेंड्स – अंकित, राहुल और विनय भी आने वाले थे. मैं मान गयी.

अगले दिन रात को 8 बजे शुभम और विनय मुझे लेने आ गये. मैं घर से बाहर आई और वो लोग मुझे देखते रह गये. मैने वाइट टॉप और ब्लॅक स्कर्ट पहनी थी. वाइट टॉप के अंदर से मेरा नेलॉन ग्रीन ब्रा पूरी तरह दिख रहा था. मैं जैसे ही कार मे बैठी, विनय बोला – बहुत सेक्सी लग रही हो प्रिया.

मैने उसे थॅंक्स कहा और कार मे बैठ गयी. रास्ते मे हमने अंकित और राहुल को पिक किया. मैं अंकित और राहुल के बीच मे बैठी थी. उतने मे अंकित ने मेरे बूब्स को दबा दिया और जैसे ही मैं अंकित को कुछ बोलती. राहुल ने हाथ मेरी स्कर्ट मे घुसा के मेरी चुत को दबा दिया. मैने शुभम को बोला की मैं आगे बैठ जाती हू, तो वो बोला नही यार एंजाय करो पीछे, आगे बोर होगी.

उतने मे राहुल, मुझे फाटू फाटू बोल के चिढ़ाने लगा.

मुझे गुस्सा आया और मैं बोली की मैं कुछ भी कर सकती हू.

राहुल बोला – चल टॉप उतार दे

अंकित मेरे पास आया और उसने मेरा टॉप उतार के विंडो से बाहर फेक दिया. मुझे थोड़ा गुस्सा आया, लेकिन फिर मैने ध्यान दिया की मेरे चुत गीली हो रही है.

मैं चुप चाप बीच मे बैठ गयी.

राहुल बोला – अब ब्रा भी उतार दे.

मुझे यह सुन के बहुत अछा लगा और मैने अपनी ब्रा उतार दी. वो लोग देखते रह गये.

अंकित – शुभम. ठीक बोलता था भाई तू. क्या मस्त दूध (बूब्स ) है इसका.

शुभम – मैं बोला था ना भाई, रंडी है एक नंबर की. देख ब्रा उतार दी.

राहुल – आज चोद के पूरी हवस निकाल देंगे.

मैने बोली प्लीज़ ऐसा मत करना. मुझे घर जाने दो.

शुभम – सुन रांड़, सब जानता हू मैं की क्या क्या करती है तू. आप यह ग्रुप चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हे. आज तुझे हम सब चोदेन्गे. चुप चाप चुदवा ले नही तो यही रोड मे उतार के नंगी कर के छोड़ देंगे तेको.

मैने चुप चाप सीर हिलाया .

हम फार्महाउस पहुच गये .

राहुल बोला – चुप चाप ऐसेही उतर जा. हम तीनो के अलावा बस 2 नौकर है घर मे.

मैं रोने लगी. तो उसने मेरा हाथ खिच के मुझे बाहर निकाल दिया.

दोनो नौकरो ने मुझे देखा और देखते ही रह गये. शुभम ने उनको बोला की जब हम इसे चोदेन्गे, तब वीडियो बनाना. वो दोनो मान गये.

अधिक कहानियाँ : ट्रैन में मिली माल औरत  

अब हम रूम मे पहुचे. वाहा इनलोगो ने तुरंत विस्की निकाली और पीने लगे. मुझे भी 2 ग्लास पीला दी.

राहुल मेरे पास आया और उसने मेरी स्कर्ट उतार दी. उसके बाद इनलोगो ने मेरी आइज़ मे रुमाल बाँध दी.

फिर अंकित ने मेरी पैंटी उतार दी.

शुभम – बता प्रिया तेरी पैंटी किसने उतारी? अगर सही बताया तो तुझे किस करेंगे और ग़लत बताया, तो तेरी गॅंड पे 2 थप्पड़ मारेंगे.

मैने राहुल का नाम लिया.

अब शुभम पीछे से आया और मेरी गॅंड मे उसने ज़ोर ज़ोर से 5 थप्पड़ मारे.

राहुल बोला – बता किसने थप्पड़ मारे तेरे गॅंड पे?

मैने अंकित का नाम लिया.

तो फिर राहुल बोला ग़लत, उतने मे किसी ने मेरे निप्पल्स को चूसना शुरू किया. बहुत ज़ोर ज़ोर से चूस रहा था.

मैं चिल्लाने लगी.

“आहह आहह. वाऊ बहुत मज़ा आरहा है. आज तो लग रहा है की मेरे चुदवाने की प्यास मिट जाएगी. आई एम युवर. फक मी फक मी. चोद डालो मुझे.”

शुभम – हा रंडी मादर्चोद… आज तेरी चुत का पूरा पानी निकाल देंगे. इतना चोदेन्गे तेरेको की चल नही पाएगी.

उतने मे राहुल पीछे से आया और उसने मेरी चुत मे अपना लंड डाल दिया. उसका लंड बहुत बड़ा था. मुझे बहुत मज़ा आने लगा. मुझसे रहा नही गया और मैने बोल दिया की, मैं तेरी रांड़ हू राहुल… चोद डालोलोलोलो… मेरी चुत का भोसड़ा बना डालोलोलोलो…

उसके बाद अंकित पीछे से आया और मेरी गॅंड मे घुसाने लगा.

राहुल नीचे लेटा और मैं उसके उपर चढ़ के उचकने लगी. अंकित ने धीरे धीरे कर के मेरी गॅंड मे अपना लंड डाल दिया. अब मैं दोनो चुत और गॅंड मे लंड ले रही थी. इतना मज़ा आ रहा था मुझे की मैं सब भूल गयी.

दोनो ज़ोर ज़ोर से मार रहे थे, मेरी चुत और गॅंड.

अंकित ने मेरी गॅंड मे ही अपना स्पर्म निकाल दिया.

अब शुभम आया.

वो और राहुल एक साथ मेरी चुत मे. लंड डालने लगे.

मैं बोली – प्लीज़ यह मत करो. मैं मर जाउन्गि. बहुत दर्द हो रहा है.

उतने मे अंकित ने आके मेरे मूह मे कपड़ा बाँध दिया और मेरी आइज़ खोल दी.

अब दोनो ने अपना लंड मेरी चुत मे पूरा डाल दिया.

मैं मोन करने लगी आअ उह्ह्ह आअह्ह्ह्ह वाअऊऊओ… दो लंड ले रही थी मैं अपने चुत मे. मैं बोलने लगी – इतना ही दम है क्या तुमलोगो मे! चोदो मुझे… आप यह ग्रुप चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हे. दोनो ने स्पीड बढ़ा दी और मेरे चुत का माल बाहर आ गया और वो दोनो झड़ गये. उतने मे घंटी बजी, मैं डर गयी.

थोड़े देर बाद शुभम दो पोलीस वालो को लेके आया. मैं डर गई.

अधिक कहानियाँ : गुजराती भाभी को उसके घर जाके चोदा

पोलीस – यह क्या चल रहा हैं यहा? चलो सबको अंदर करता हूँ.

शुभम – सर वो यहा कुछ नही सर. बस ग्रूप स्टडी.

पोलीस – चूतिया लगता हूँ मैं.

उतने मे पोलीस वाले मेरे पास आए और बोले – इसे देख के सॉफ पता चल रहा की यह यहा चुद रही थी. नंगी बैठी है. चलो पापा को फोन करो. चलो पोलीस स्टेशन.

मैं रोने लगी. मैं बोली – सर प्लीज़ छोड़ दीजिए. आप जो बोलोंगे मैं करूँगी.

पोलीस – चल आ. फिर हम दोनो से बी चुदवा ले.

मैं माना नही कर पाई.

उसने अपना लंड खोला, तो मैं पागल हो गयी 7 इंच का.

मैं चूसने लगी ज़ोर ज़ोर से.

शुभम बोला – सर रांड़ है एक नंबर की, हम लोगो का नही चुसि थी.

मैने बारी बारी दोनो का लंड 15 मिनिट तक चूसा.

उसके बाद एक पोलीस वालेने मेरे दूध को काटना शुरू किया. दूसरा चुत मे लंड डालके चूसने लगा.

पोलीस 1 – लॉडा ले रही है रंडी बहन्चोद. तेरी जैसी रंडी को कैसे छोड़ देता!.. चुदवा मादर्चोद…

मैं – हा सर बहुत मज़ा आरा आपका लंड लेने मे और ज़ोर से चोदिये.

अब दोनो ने मेरे चुत मे लंड डाल दिया और आधे घंटे तक चोदा. फिर स्पर्म मेरे मूह मे निकाल दिया और मैं पूरा पी गयी.

अब मुझे लगा की अब हो गया. जैसे ही मैं उठने वाली थी.

दोनो नौकरो ने पोलीस वालो के सामने हाथ जोड़े और बोले – हमे भी चोद लेने दीजिए सर इस रांड़ को.

पोलीस वालो ने बोला, हा सब चोदो इस रांड़ को और वाहा से चले गये.

मैने शुभम को बोला की मैं इनसे नही चुदवाउन्गि. लेकिन उसने बोला की चुदवा ले. मज़ा आएगा.

शुभम, विनय, राहुल एक जगह बैठ गये और नौकरो को बोले शुरू हो जाओ.

बठाये अपने लंड की ताकत! मालिस और शक्ति वर्धक गोलियों करे चुदाई का मज़ा दुगुना!

मैं मना करने लगी. उतने मे दोनो ने मुझे पकड़ा और बेड मे ले जा के बाँध दिया. उसके बाद मेरे दूध चूसे. चुत चाटने लगे तो मैं पागल हो गयी. मैने खुद बोला की, चोदो यार प्लीज़ चोदो. मेरी चुत का भोसड़ा बनाओ.

फिर दोनो ने मेरे चुत मे और एक गॅंड मे लंड डाल के 1 घंटे चुदाई की. 3 बजे तक उन दोनो ने मुझे चोदा. उसके बाद मुझसे उठा भी नही जा रहा था. शुभम ने मुझे उठा के बेड पे सुला दिया. बहुत मज़ा आया उस दिन मुझे. पार्टी हो गई मरी चुत की.

पार्टी – पहले शुभम और उसके दोस्तो ने पार्टी कराई. फिर पोलीस वालो ने और फिर नौकरो ने…

Popular Stories / लोकप्रिय कहानियां

  • Bus me chhedkhani-12

    Didi ne meri classmate ko humare sath threesome chudai ke liye manaya. Padhiye ki humari chudai ki kahani me kya hota hai.

  • Neha ko mausi ke samne choda

    Pehli chut 6 ghante tak chodi-2

    Padhiye kaise me mausi ke landlord ki ladki Neha ki chut chod rha tha, to mausi ne dekh liya! Fir kya maine neha ki chudai chalu rakhi? Mausi ne mera kya haal kiya?

  • गर्लफ्रेंड के घर में उसकी बहन के सामने चोदा

    यह जयदेव और उसकी १८ साल की गर्लफ्रेंड की हे. जब उसकी गिर्ल्फ़्रेडं ने उसे उसके घर चोदने की बुलाया और उसे चोदने भी नहीं दिया. ऐसा क्या कारन था जो उसे खली हाथ वापिस आना पड़ा और उसे दूसरा मौका तब मिला जब उसकी जयदेव की सगी बहन उसके रूम में थी.

  • Blackmail kar BF ne Hindu dosto se Chudwaya

    Meri Chudai ki Sex kahani – Part 2

    Mere BF ne humari pichli chudai ki Video bana li thi, jis wajh se mujhe na chahte hue bhi uske hindu dosto se chudai karwane ko mazbur hona pada!

  • माई स्वीट गर्लफ़्रेंड श्वेता

    मेरी गर्लफ्रेंड श्वेता ने रूम में पढ़ी कामुक किताब देख ली. इसवजह से हम दोनों अपना काबू खो बैठे और कामुकता की प्यास हमने पहलीबार चुदाई करके मिटा दी.

आपकी सुरक्षा के लिए, कृपया कमेंट सेक्शन में अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी ना डाले।

Leave a Reply