(Didi ke sath Jijaji ne meri bhi chut ki seal faad dali)

दीदी के साथ जीजाजी ने मेरी भी चुत की सील फाड़ डाली

मेरा नाम मोहिनि है और में आज आप सभी को अपने जीवन का एक सच और उससे जुड़ी एक सच्ची घटना सुनाने जा रही हूँ. जिसने मेरे पूरे जीवन को बिल्कुल बदलकर रख दीए, दोस्तों मेरी चुदाई होने से पहले मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरी चुदाई कौन करेगा?

और फिर मेरी पहली चुदाई खत्म होने के बाद में सारी बातें सोचने लगी कि मैंने यह सब क्या किया?

दोस्तों मेरे फिगर का आकार 34-30-32 है.

अपनी सेक्स लाइफ को बनाये सुरक्षित, रखे अपने लंड और चुत की सफाई इनसे!

और हर एक लड़की का सेक्सी होने का मन होता है, वो मन ही मन चाहती है कि हर किसी को वो अपनी तरफ अपना सेक्सी बदन दिखाकर आकर्षित कर ले और उसको अपना बनाने का मन होता है, ठीक वैसा ही मेरा भी मन था, में अपनी कॉलेज की दोस्तों के साथ रहकर सेक्स के बारे में बहुत सारी बातें समझ गई थी..

लेकिन उस समय मेरी उम्र भी कुछ ज़्यादा नहीं थी.

मैं उस समय सिर्फ 19 साल की थी और में 19 साल की उम्र से ही अपनी चुदाई करवाना चाहती थी, मेरी बुर के अंदर चुदाई करवाने की इच्छा और कुछ अजीब सा महसूस होने लगा था, लेकिन मुझे ऐसा कोई मिला नहीं मिला जिसका फायदा उठाकर में अपनी बुर की चुदाई करवाकर उसको शांत करूं और वो मज़े लूँ, लेकिन अभी कुछ दिन पहले मेरे साथ एक ऐसी घटना हुई जिससे मेरी पूरी जिंदगी बदल गई और अब आप सभी का ज़्यादा समय ना लेते हुए में सीधा उस कहानी पर आती हूँ और बताती हूँ कि मेरी चुदाई का वो सपना कैसे सच हुआ, मुझे कैसे लंड और किसका लंड मिला?

दोस्तों वो मेरी दीदी की शादी का दिन था और हमारे पूरे घर में ख़ुशी का माहोल था में भी बहुत खुश थी और फिर वो पल आ ही गया, मेरी दीदी की उस दिन शादी हो गई और विदाई के समय मेरी दीदी बहुत ज़ोर ज़ोर से रो रही थी.

वैसे तो घर के सभी सदस्य दुखी थे और उनके साथ साथ में भी रो रही थी, तभी कुछ देर बाद मुझसे मेरी मम्मी ने कहा कि तुम भी अपनी दीदी के साथ चली जाओ कुछ दिन रुकने के बाद हम लोग तुम दोनों के लेने आ जाएगें और तुम्हारे साथ रहने से इसका भी मन लगा रहेगा और फिर मैंने अपनी मम्मी को वो बात सुनकर बहुत खुश होकर जाने के लिए तुरंत हाँ कह दीए और जब में दीदी के ससुराल आई. तो मुझे वहां पर बहुत मज़ा आया.

वहां पर सभी का व्यहवार बहुत अच्छा था और वो लोग बहुत प्यार से हंस हंसकर मुझसे बातें कर रहे थे, दोस्तों वो दिन तो ऐसे ही मज़े मस्ती में गुजर गया और उस रात को मेरी दीदी की सुहागरात थी, वैसे मुझे तो पहले से ही पता था कि आज दीदी की जमकर चुदाई होगी और उनकी बुर की सील भी जरुर टूटेगी और आज मेरी दीदी को ठीक तरह से पता चलेगा कि लंड क्या होता है और लोलीपॉप किसे कहते है?

उस रात को में अपनी दीदी की चुदाई के बारे में सोचकर बहुत ज्यादा जोश में आकर में खुद अपनी बुर में उंगली करके अपनी बुर को शांत करके थककर ना जाने कब सो गई और जब में दूसरे दिन सुबह उठी तो में सीधी बाथरूम में जाने के बाद सीधी दीदी के रूम में चली गई, मुझे पता चल गया कि कल रात की चुदाई से मेरी दीदी की बुर की सील टूट चुकी थी.

उस समय मेरे जीजा जी कमरे में नहीं थे.

इसलिए में अपनी दीदी से पूछने लगी कि कल रात को उनके साथ क्या क्या हुआ? तो उन्होंने थोड़ा सा शरमाकर मुझसे बोला कि तेरे जीजा जी का बहुत मोटा है और उन्होंने मुझे बहुत बुरी तरह से जमकर चोदा और अपनी तरफ से चुदाई में कोई भी कमी नहीं आने दी, वैसे उनको यह काम करना बहुत अच्छे से आता है और मुझे उनका हर एक तरीका बड़ा अच्छा लगा, उनमे बहुत जोश भी है, आप यह जीजा साली की गन्दी चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है. दोस्तों अपनी दीदी की बातें सुनकर मुझे तो अब वो सभी बातें पूरी विस्तार से जानने की इच्छा हो रही थी और में वो बातें सुनकर जोश में आ गई और बड़ी उत्सुक भी थी, क्योंकि में अब तक वर्जिन थी और मैंने किसी लंड का मज़ा नहीं लिया था.

अधिक कहानियाँ : जॉगिंग करती पडोसन भाभी को चोदा

में बस जब भी मुझे याद आती अपनी ऊँगली को डालकर बुर को शांत कर लिया करती, लेकिन तभी मेरे जीजा जी भी कमरे में आ गये और वो अब मुझसे पूछने लगे कि क्या हो रहा है? तुम कैसी हो और तुम्हे रात को नींद तो ठीक तरह से आई, क्या यहाँ पर कोई परेशानी तो नहीं है ना? तो मैंने उनको कहा कि सब कुछ ठीक है और में यहाँ पर बहुत खुश हूँ और आपके रहते हुए मुझे कैसी परेशानी मेरे साथ आप हो ना और में उनकी तरफ मुस्कुराने लगी.

अब मेरी दीदी हम दोनों से कहकर उठकर बाथरूम में जाने लगी और तभी मेरे जीजा जी ने तुरंत उनका हाथ पकड़कर लिया और उठकर उनको किस किया और वो मेरे ही सामने दीदी के बूब्स को ज़ोर से दबाने सहलाने लगे, लेकिन दीदी उनसे कुछ नहीं बोली, फिर जीजाजी दीदी से पूछने लगे कि क्या में तुम्हारी बहन से किस ले लूँ? दीदी बोली कि में इसमें क्या कहूँ आप और आपकी साली जानो..

दीदी यह बात कहकर हंसती हुई सीधी बाथरूम में चली गई..

जीजा जी उनके कमरे से बाहर जाते ही तुरंत मुझे अपनी बाहों जकड़कर किस लेने लगे और वो मेरे बूब्स को भी ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे, दोस्तों मुझे उनके ऊपर उनकी ऐसी हरकत की वजह से बहुत गुस्सा आ रहा था, लेकिन में क्या कर सकती थी, क्योंकि उनको मेरी दीदी ने जो हाँ कर दीए था और में भी उस समय पूरी तरह से जवान थी और मेरे अंदर भी सेक्स भड़क रहा था, इसलिए में उनका ज्यादा विरोध नहीं कर रही थी.

अब जीजाजी ने मेरी तरफ से कोई भी विरोध ना देखकर उनकी हिम्मत ज्यादा बढ़ गई और उस बात का उन्होंने फायदा उठाते हुए, मेरी टी-शर्ट को उतारना चाहा, लेकिन मैंने मना कर दीए और उनसे कहा कि क्या आपका दिमाग खराब हो गया है, अगर कोई आ गया तो क्या होगा? प्लीज अब आप मुझे छोड़ दो, लेकिन तभी जबरदस्ती उन्होंने मेरी कोई भी बात को ना सुनकर एक ज़ोर का झटका देकर मेरी टी-शर्ट को उतारने की जगह खींचकर फाड़ दीए और ब्रा को भी ज़ोर से पकड़कर खींचकर उसके हुक को तोड़ दीए.

मैं पर से उनके सामने पूरी नंगी थी..

अपने बूब्स को अपने हाथों से छुपाने की कोशिश करने लगी, अब वो जबरदस्ती करते हुए मेरे गोरे गोरे बूब्स को अब कुत्ते की तरह चूसने लगे, वो उन पर टूट पड़े और बिल्कुल पागल हो चुके थे, लेकिन दोस्तों मुझे तो कैसे भी करके अब उनका लंड देखना था, इसलिए मैंने अपनी तरफ से बिल्कुल विरोध को बंद करके उनकी टेंट बनी हुई पेंट को पकड़ लिया और मैंने उनके लंड को बिना देर किए जल्दी से बाहर निकाल लिया, अब जीजाजी और में हम दोनों पूरे नंगे होकर खड़े थे,

मेरे हाथ में उनका तनकर खड़ा हुआ लंड था और उनके मुहं में मेरे एक बूब्स की बुब्बूस तो दूसरी बुब्बूस को वो अपने एक हाथ से कसकर निचोड़ रहे थे, हम दोनों उस समय पूरे जोश में थे और हमें बड़े मज़े आ रहे थे, लेकिन तभी अचानक से हमारा मज़ा खराब करने के लिए मेरी दीदी ना जाने कहाँ से आ गई, वो हम दोनों को उस हालत में देखकर बिल्कुल चकित रह गई, फिर उन्होंने मुझे कसकर एक थप्पड़ मार दीए, जिसकी वजह से मेरा सारा सेक्स का नशा उस एक ही थप्पड़ में झट से टूट गया..

मैं अपने पूरे होश में आ चुकी थी कि में क्या कर रही थी, मुझे वो सब कुछ अच्छी तरह से समझ में आ गया, फिर जीजाजी ने गुस्से में आकर मेरी दीदी को भी एक थप्पड़ मार दीए और वो बोले कि साली रंडी तुझे नहीं पसंद तो तू इसको भी क्यों मना कर रही है? इसको तो मेरे साथ मज़ा लेने दे और इतना कहने के बाद जीजा जी ने मेरी दीदी के कपड़े जबरदस्ती उतारकर अपने खड़े लंड को उन्होंने दीदी की बुर में बहुत बेरहमी से एक जोरदार धक्का देकर अंदर डाल दीए, लेकिन उनका आधा ही लंड दीदी की बुर के अंदर गया था और दीदी दर्द की वजह से बहुत ज़ोर से चिल्ला रही थी..

वो दर्द से तड़प रही थी..

फिर यह सब कुछ अपनी आखों के सामने देखकर मेरी बुर से पानी बाहर आ गया, एक तो में पहले से ही बहुत गरम थी और दूसरा मेरी दीदी की चुदाई मेरे सामने होने लगी, जिसकी वजह से में बिल्कुल पागल हो चुकी थी, सब कुछ मेरी समझ से बाहर था कि में क्या करूं? तभी मेरी बैचेनी को मेरे जीजाजी झट से समझ गए और वो मुझे अपनी तरफ खींचकर मेरी बुर में ज़ोर ज़ोर से अपनी दो उँगलियों को डालकर मेरी भी चुदाई करने लगे, जिसकी वजह से मेरी बुर अब कुछ ज्यादा ही व्याकुल हो उठी..

में वो सब किसी भी शब्दों में लिखकर आप लोगों को नहीं बता सकती कि में उस समय कैसा और क्या महसूस कर रही थी, अब मैंने समय को देखते हुए तुरंत अपनी दीदी से आग्रह किया कि प्लीज दीदी मेरे भी अंदर डालने दो ना और दीदी उस समय अपनी चुदाई होने के साथ साथ रो रही थी.

फिर जीजा ने मुझे पकड़ा और वो मुझे नीचे लेटाकर मेरे दोनों पैरों को ऊपर उठाकर उन्होंने दीदी की बुर से खींचकर अपना लंड बाहर किया और अब वो धीरे से अपने लंड को मेरी बुर में डालने लगे, आप यह जीजा साली की गन्दी चुदाई कहानी इंडियन एडल्ट स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है . में बिना हलचल किए उनके सामने पड़ी रही और वो मेरी बुर पर अपने लंड का हल्का हल्का दबाव बनाते हुए लंड को अंदर करने लगे….

दोस्तों सिर्फ़ उनके लंड का टोपा ही मेरी बुर के अंदर गया था..

लेकिन उसकी वजह से ही मुझे बहुत दर्द हो रहा था, में उस असहनीए दर्द से तड़पने लगी और सिसकियाँ ले रही थी आईईईईइ… माँ में मर गई उफ्फ्फ्फफ्फ… प्लीज थोड़ा धीरे करो… मुझे बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन मेरे बेरहम जीजा ने कुछ भी ना सुनते हुए अपना लंड मेरी बुर के अंदर पूरा डाल ही दीए, वो अब जमकर धक्के देकर मेरी चुदाई करने लगे और तब जीजाजी, में और दीदी सब नंगे पूरी रात तक बारी बारी से मज़े ले रहे थे और अब तो दीदी की बारी थी…

तब मैंने उनको बहुत किस किए और उसके बूब्स को भी मैंने बहुत देर तक चूसा दबाया, जिसकी वजह से मुझे बहुत मज़ा आया, उस समय जीजा जी मेरी बुर को कुत्ते की रह अपनी गरम जीभ से चाटने लगे, मुझे तो उस दिन जैसे जन्नत मिल गई और 7 इंच के लंड से मेरी चुदाई भी हो गई और फिर में जब तक वहां पर रही और तब तक में हर रात को अपनी दीदी की बुर को चुदते हुए देखती थी और उनकी बुर में अपनी उंगली को भी डाल देती थी जिससे मुझे उनकी बुर अंदर तक गुलाबी के दर्शन हो जाते थे, लेकिन अब मुझे अपने घर भी जाना था, क्योंकि में अपनी दीदी के ससुराल में दो दिन तक रुक गई थी, इसलिए में वापस अपने घर आ गई…

फिर उसके बाद में अब कॉलेज में अपनी चुदाई करवाने के लिए दमदार लड़को की तलाश करने लगी और में बहुत से लड़को को ऐसे ही किस दे देती और उनके लंड को भी कपड़ो के ऊपर से किस कर लेती, तो लगातार कॉलेज जाने के बाद भी मुझे अपनी चुदाई का कोई भी जुगाड़ नहीं मिला, मुझे हर रात को अपनी उँगलियों से ही अपनी बुर को शांत करना पड़ा और एक दिन जब में अपने कॉलेज से घर आई, तो मैंने देखा कि आज मेरे घर पर मेरे सामने मेरे जीजाजी और दीदी बैठी हुई थी…

बठाये अपने लंड की ताकत! मालिस और शक्ति वर्धक गोलियों करे चुदाई का मज़ा दुगुना!

अधिक कहानियाँ : सेक्सी माँ की रात भर जबरदस्त चुदाई

दोस्तों पहले तो मुझे उनको देखकर विश्वास नहीं हुआ, फिर उनसे बात करने और अपनी दीदी से गले लगने के बाद में समझ गई और में उन दोनों को देखकर बहुत खुश हो गई, क्योंकि एक बार फिर से मुझे आज रात को उनके साथ अपनी बुर को चुदवाने का असली मज़ा आएगा और वो सुख मिलेगा जिसके लिए में तरस रही थी, फिर जब शाम हुई तब जीजाजी और में छत पर आ गए और जीजाजी कुछ देर बाद वहीं पर शुरू हो गए और में भी शुरू हो गई, हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना शुरू कर दिए और में साथ में उनका लंड दबा रही थी और वो मेरे बूब्स को दबा रहे थे, लेकिन तभी दीदी भी छत पर आ गई और वो बोली कि तू कभी भी नहीं सुधरेगी…

अब मैंने दीदी को लपककर पकड़ लिया और मैंने उनकी सलवार को ज़बरदस्ती उतार दीए और उनके बूब्स को बहुत जमकर दबाया और चूसा, फिर जीजाजी ने इतनी देर में मेरे कपड़े उतार दिए और उन्होंने अपने लंड को मेरे मुहं में डाल दीए और उन्होंने हल्के हल्के धक्के देकर मेरे मुहं की चुदाई करना शुरू कर दीए, फिर तभी कुछ देर बाद मुझे उल्टी आ गई, क्योंकि मैंने उससे पहले कभी भी किसी के लंड का पानी नहीं पिया था, दोस्तों यह थी मेरी वो सच्ची घटना जिसको में आप लोगों तक पहुँचाने के बारे में बहुत समय से सोच रही थी,..

Popular Stories / लोकप्रिय कहानियां

  • Barish me bhigi sali ki chut chodi

    Dosto, Mera naam raaja he. Me holidays me apne saali ke ghar gaya hua tha. Us waqt ek din baarish ke mausam me mene uske bhige badan ko dekh liya. Tabhi se mujhe meri saali ko chodne ki mansa bani.

  • बरसात में भीगी चाची की चुदाई

    बरसात में भीगी हुए चाची का गिला बदन देख कर मन में उसके लिए मेरी कामवासना जाग उठी, पढ़िए कैसे मेने अपनी चाची को मेरे लंड का सुख दिया।

  • Sexy mausi ki gand chudai-1

    Meri sexy mausi ko doodhwale ne bathroom me ghusa ke choda. Meri mausi ki hindi sexy story padh kar apne loda khada jarur ho jayega.

  • सरिता भाभी की चुदाई

    मैने उससे कुत्ते की तरह से चोदा. इस बार वो जल्दी झड़ गयी. मेरा लण्ड अभी भी मस्त तन्ना रहा था. मैं उसे अभी भी चोद रहा था. पढ़िए इस भाभी-देवर की चुत चुदाई कहानी.

  • जवान भतीजी को जीन्स की लालच दे कर चोदा – Part 2

    हेलो दोस्तों में राहुल , हाजिर हु आपके लिए कल की अधूरी स्टोरी लेके. जहा मेने अपनी भतीजी को जीन्स का नाप लेने के बहाने नंगा कर दिया और उसने भी मेरा लंड देखने की इच्छा जताई थी. तो चलिए आगे में आपको बताता हु कैसे मेने उसकी कुवारी बुर को चोदा.

2 thoughts on “दीदी के साथ जीजाजी ने मेरी भी चुत की सील फाड़ डाली

आपकी सुरक्षा के लिए, कृपया कमेंट सेक्शन में अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी ना डाले।

Leave a Reply